उत्तराखंड के दर्रे

उत्तराखंड के दर्रे


विषय – उत्तराखंड के र्रे

दर्रा किसे कहते हैं

दो पर्वतों या पहाड्रों के मध्‍य स्थित प्राकृतिक मार्ग या पास को दर्रा कहते हैं। दर्रों को अन्‍य नामों से भी जाना जाता है। 

जैसे – दर्रा,  गिरिद्वार,  धुरा या पास इत्‍यादि नामों से भी जाना जाता है।

दर्रा किन्‍हीं दो देशों के मध्‍य, किन्‍हीं दो राज्‍यों के मध्‍य या किसी दो जिल्‍लों के मध्‍य या किसी क्षेत्र के अन्‍दर हो सकता है।

उत्तरकाशी में स्थित दर्रे

उत्तराखंड राज्‍य के उत्तरकाशी जिल्‍ले में श्रृगकंठ दर्रा स्थित है। जो उत्तराखंड को हिमाचलप्रदेश से जोड़ता है। श्रीगकंठ दर्रा उत्तराखंड का सबसे पश्चिमी दर्रा है। यह दर्रा दो राज्‍यों को जोड़ने वाला उत्तराखंड एक मात्र दर्रा है।

 

उत्तरकाशी और तिब्‍‍बत के मध्‍य स्थित दर्रे

उत्तरकाशी और तिब्‍बत के मध्‍य 4 प्रमुख दर्रे स्थित हैं।

  1. थांग्‍ला दर्रा             –       6079 मी.
  2. मुलिंग ला दर्रा        –       5669 मी.
  3. नेलंग ला दर्रा
  4. सांगचोकला दर्रा

 

उत्तरकाशी और चमोली के मध्‍य स्थित दर्रे

उत्तरकाशी और चमोली के मध्‍य 1 मात्र दर्रा स्थित है।

  • कालिंदी दर्रा।

 


चमोली और तिब्‍बत के मध्‍य स्थित दर्रे

उत्तराखंड के चमोली जिल्‍ले में सर्वाधिक दर्रे स्थित है।

  1. बालचा धुरा दर्रा               –      5844 मी.
  2. माणा (डुंगरी ला) दर्रा।      –      5608 मी.
  3. नीति दर्रा।                       
  4. किंगरी-बिंगरी दर्रा।          –       5550 मी. 
  5. लमलंग दर्रा।
  6. चौरहोती दर्रा।
  7. शलशला दर्रा।
  8. घाटरलिया दर्रा।
  9. कोई दर्रा।
  10. म्‍यूंंडार दर्रा।
  11. तन्‍जुन दर्रा।

चमोली और पिथौरागढ़ के मध्‍य स्थित दर्रे

  1. लातु धुरा दर्रा।       –    6389
  2. बाराहोती दर्रा।       –    5985
  3. मार्च योक दर्रा।
  4. टोपी धुरा दर्रा।

चमोली और बागेश्‍वर के मध्‍य स्थित दर्रे

  • सुंदरढुंगा दर्रा।

 

 


पिथौरागढ़ और तिब्‍बत के मध्‍य स्थित दर्रे

  1. लम्पिया धुरा दर्रा।         –      5600 मी.
  2. लेविधुरा दर्रा।               –      5580 मी.
  3. मन्‍स्‍या दर्रा।                  –      5500 मी.
  4. दारमा – नवीधुरा ।        
  5. ऊंटा जयंती दर्रा।
  6. लिपुलेख दर्रा।

उत्तराखंड का सबसे पूर्वी दर्रा लिपुलेख दर्रा है। इसे ट्राय जंक्‍शन दर्रा भी कहते हैं। क्‍योंकि यह दर्रा भारत, चीन और नेपाल को आपस में जोड़ता है। और इसी दर्रे के मध्‍य भारत, चीन और नेपाल के मध्‍य कई बार विवाद होता रहता है।

ट्राय जंक्‍शन दर्रा – ऐसा दर्रा जो एक से अधिक देशों को आपस में जोडता है। उसे ट्राय जंक्‍शन दर्रा कहते हैं।

 


बागेश्‍वर और पिथौरागढ़ के मध्‍य स्थित दर्रे

बागेश्‍वर और पिथौरागढ के मध्‍य एक मात्र ट्रेल पास दर्रा स्थित है।

 


चंपावत और पिथौरागढ के मध्‍य स्थित दर्रा

चंपावत और पिथौरागढ के मध्‍य एक मात्र लासपा दर्रा स्थित है।

 


पिथौरागढ में स्थित दर्रा

शिनला दर्रा पिथौरागढ का मात्र एक ऐसा दर्रा है जो न किसी देश को आपस मे जोड़ता है और न ही किसी राज्‍य और जिल्‍ले को आपस में जोडता है। शिनला दर्रा सिर्फ पिथौरागढ में ही स्थित है।


Read More Post…

उत्तराखंड के राष्‍ट्रीय उद्यान

FAQ – उत्तराखंड के राष्‍ट्रीय उद्यान

दर्रा किसे कहते हैं?

दो पर्वतों या पहाड्रों के मध्‍य स्थित प्राकृतिक मार्ग या पास को दर्रा कहते हैं।

दर्रों को अन्‍य किन-किन नामों से जाना जाता है?

दर्रों को दर्रा, गिरिद्वार, धुरा या पास इत्‍यादि नामों से भी जाना जाता है।

कौन-सा दर्रा उत्तराखंड को हिमाचल राज्‍य से जोड़ता है?

श्रृगकंठ दर्रा उत्तराखंड को हिमाचलप्रदेश राज्‍य से जोड़ता है।

श्रृगकंठ दर्रा कहां स्थित है?

श्रृगकंठ दर्रा उत्तराखंड राज्‍य के उत्तरकाशी जिल्‍ले में स्थित है।

कालिंदी दर्रा कहां स्थित है?

कालिंदी दर्रा उत्तराखंड राज्‍य के उत्तरकाशी और चमोली के मध्‍य 1 मात्र दर्रा स्थित है।

थांग्‍ला दर्रा कहां स्थित है?

थांग्‍ला दर्रा उत्तरकाशी जिल्‍ले में स्थित है।

सुंदरढुंगा दर्रा कहां स्थित है?

सुंदरढुंगा दर्रा उत्तराखंड राज्‍य के चमोली और बागेश्‍वर जिल्‍ले के मध्‍य स्थित दर्रा है।

किस दर्रे को ट्राय जंक्‍शन दर्रा कहा जाता है?

लिपुलेख दर्रे को ट्राय जंक्‍शन दर्रा कहा जाता है। क्‍यों‍कि इस दर्रे पर भारत, चीन और नेपाल सीमाएं आपस में मिलते हैं।

ट्राय जंक्‍शन किसे कहते है?

ऐसा दर्रा जो एक से अधिक देशों की सीमाओं को आपस में जोडता है। उसे ट्राय जंक्‍शन दर्रा कहते हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Share
Share
error: Content is protected !!